Call: 0123456789 | Email: info@example.com

Triveni Kala Sangam

Video Gallery

त्रिवेणी कला संगम जयपुर द्वारा वर्ष 2003 में भरतपुर एवं जयपुर में संयुक्त रूप से एक संगीत, नृत्य एवं नाट्य प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जाकर उसमें डॉ कैलाश चंद्र शर्मा द्वारा लिखित एवं निर्देशित नाटक “लड़ी मैड की ” नाटक की तैयारी कराकर उसका प्रथम बार रवीन्द्र मंच जयपुर पर प्रस्तुतीकरण किया गया। इसमें डॉ कैलाश चंद्र शर्मा ने उस्ताद, महेश सोनी ने जमूरा एवं रश्मि सोनी ने कजरी की भूमिका अदा की

नाटक “लड़ी मैड की ” पार्ट 1 मोटरगाड़ी

जयपुर दूरदर्शन के कार्यक्रम ‘ धरती धोरां री ‘ में डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा से राधिका गौतम एवं डॉ.  कोमल कौशिक की 25 जुलाई 2019 को प्रातः 8. 45 से 9 .15 बजे तकलिए गए साक्षात्कार  का सीधा प्रसारण

20 जून 2016 को सायं 7 बजे रवीन्द्र मंच जयपुर के मिनी थिएटर में ‘त्रिवेणी कला संगम, जयपुर ‘ की ओर से डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा के द्वारा लिखित एवं निर्देशित नाटक ‘कार्यवाहक हलवाई’ का मंचन किया गया। दृष्टव्य है नाटक का भाग 1
(कलाकार – डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा, अनुष्का चतुर्वेदी , रेखा शर्मा, अन्वेषा चतुर्वेदी, तनिष्क, केतन , ख़ुशी शर्मा, हिमान्शु साबू , साक्षी, दीक्षा शर्मा )

19 जून 2016 को सायं 7 बजे रवीन्द्र मंच जयपुर के मिनी थिएटर में ‘त्रिवेणी कला संगम, जयपुर ‘ की ओर से डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा के द्वारा लिखित एवं निर्देशित नाटक ‘महावत ‘ का मंचन किया गया। दृष्टव्य है नाटक का भाग 1
(कलाकार – डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा, अनुष्का चतुर्वेदी , रेखा शर्मा, अन्वेषा चतुर्वेदी, तनिष्क, केतन , ख़ुशी शर्मा, हिमान्शु साबू , साक्षी, दीक्षा शर्मा )

19 जून 2016 को सायं 7 बजे रवीन्द्र मंच जयपुर के मिनी थिएटर में ‘त्रिवेणी कला संगम, जयपुर ‘ की ओर से डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा के द्वारा लिखित एवं निर्देशित नाटक ‘महावत ‘ का मंचन किया गया। दृष्टव्य है नाटक का भाग 2
(कलाकार – डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा, अनुष्का चतुर्वेदी , रेखा शर्मा, अन्वेषा चतुर्वेदी, तनिष्क, केतन , ख़ुशी शर्मा, हिमान्शु साबू , साक्षी, दीक्षा शर्मा )

त्रिवेणी कला संगम, जयपुर द्वारा 25 नवम्बर से 25 दिसम्बर 2014 तक जयपुर में आयोजित संगीत, नृत्य  एवं  नाट्य प्रशिक्षण  शिविर के समापन समारोह का डी डी राजस्थान द्वारा 29 दिसम्बर 2014 को प्रसारण

त्रिवेणी कला संगम, जयपुर द्वारा 25 नवम्बर से 25 दिसम्बर 2014 तक जयपुर में आयोजित संगीत, नृत्य  एवं  नाट्य प्रशिक्षण  शिविर के समापन समारोह का 25 दिसम्बर 2014 को रवीन्द्र मंच जयपुर पर नाटक ‘आधुनिक यमलोक’ का प्रस्तुतीकरण (नाटक का भाग 1)

नाटक का भाग 2

त्रिवेणी कला संगम, जयपुर द्वारा 25 नवम्बर से 25 दिसम्बर 2014 तक जयपुर में आयोजित संगीत, नृत्य एवं नाट्य प्रशिक्षण शिविर के समापन समारोह का डी डी राजस्थान द्वारा 11 जनवरी 2015 को प्रसारण

त्रिवेणी कला संगम, जयपुर द्वारा 25 नवम्बर से 25 दिसम्बर 2014 तक जयपुर में आयोजित संगीत, नृत्य  एवं  नाट्य प्रशिक्षण  शिविर के समापन समारोह का 30 दिसम्बर 2014 को रवीन्द्र मंच जयपुर पर नाटक ‘महावत’ का प्रस्तुतीकरण (नाटक का भाग 1)

त्रिवेणी कला संगम, जयपुर द्वारा 25 नवम्बर से 25 दिसम्बर 2014 तक जयपुर में आयोजित संगीत, नृत्य  एवं  नाट्य प्रशिक्षण  शिविर के समापन समारोह का 30 दिसम्बर 2014 को रवीन्द्र मंच जयपुर पर नाटक ‘महावत’ का प्रस्तुतीकरण (नाटक का भाग 2)

वर्ष 2010 में जयपुर दूरदर्शन के ‘नन्ही दुनिया ‘ कार्यक्रम में त्रिवेणी कला संगम, जयपुर के सन्दर्भ से बच्चों को ‘साहित्य, संगीत, नृत्य एवं नाटकों ‘ की उपयोगिता बताते डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा

जयपुर दूरदर्शन के ‘किशोर जगत’ कार्यक्रम में डॉ  कैलाश  चन्द्र शर्मा के साक्षात्कार का प्रसारण

जयपुर दूरदर्शन के ‘मरुधरा’ कार्यक्रम में डॉ  कैलाश  चन्द्र शर्मा के साक्षात्कार का प्रसारण

जयपुर दूरदर्शन के कार्यक्रम ‘ धरती धोरां री ‘ में डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा से प्रणय भारद्वाज एवं कृतिका जैन की वार्ता का सीधा प्रसारण

जयपुर दूरदर्शन के ‘कल्याणी ‘ धारावाहिक में डॉ  कैलाश  चन्द्र शर्मा एवं उनके जन्म स्थान ‘श्री सियावरजी का मंदिर ‘ की भूमिका

त्रिवेणी कला संगम जयपुर द्वारा वर्ष 1995 में रवीन्द्र मंच जयपुर पर मंचित नाटक ‘हरि लाल एंड संस ‘ में पोस्टमैन एवं उसकी पत्नी की भूमिका में डॉ  कैलाश  चन्द्र शर्मा एवं संस्थाध्यक्ष रेनू रानी शर्मा

त्रिवेणी कला संगम जयपुर द्वारा वर्ष 2007 में रवीन्द्र मंच जयपुर पर मंचित नाटक ‘कार्यवाहक हलवाई ‘, ‘मन चंगा तो कठौती में गंगा ‘ आदि के माध्यम से डॉ  कैलाश  चन्द्र शर्मा द्वारा अपनी शिष्या सूफी सैय्यद को नाटक के क्षेत्र में प्रथम बार प्रस्तुत किया गया

त्रिवेणी कला संगम जयपुर के बाल कलाकारों की जयपुर दूरदर्शन के ‘नन्ही दुनिया ‘ कार्यक्रम में 13 जनवरी 1997 को डॉ  कैलाश  चन्द्र शर्मा के प्रथम नाटक ‘पेड़ हमारे मित्र ‘ की प्रस्तुति। मुख्य कलाकार – काजल शर्मा, अभिषेक शर्मा, ध्वनि कौशिक, रीतिका परवाल, सुमन वैष्णव, सुहास अरोड़ा आदि

त्रिवेणी कला संगम जयपुर द्वारा रवीन्द्र मंच जयपुर पर प्रस्तुत कार्यक्रमों का दूरदर्शन कवरेज

जयपुर दूरदर्शन से 5 फरवरी 2011 को डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा द्वारा लिखित एवं निर्देशित नाटक ‘मेरी लाडो पढ़ेगी का प्रसारण ‘

त्रिवेणी कला संगम, जयपुर के संगीत एवं बाल नाट्य शिविर का रवीन्द्र मंच जयपुर पर समापन समारोह 16 जून 1996

त्रिवेणी कला संगम, जयपुर द्वारा 4 नवम्बर 1998 को रवीन्द्र मंच जयपुर पर आयोजित अखिल भारतीय गांधर्व महाविद्यालय मण्डल मुंबई का 68 वां दीक्षांत समारोह

त्रिवेणी कला संगम, जयपुर द्वारा भरतपुर एवं बड़ा नगला-इटामडा में आयोजित संगीत, नृत्य  एवं  नाट्य शिविर का रवीन्द्र मंच जयपुर पर समापन समारोह दिस. 2004

त्रिवेणी कला संगम, जयपुर द्वारा बड़ा नगला-इटामडा में आयोजित संगीत, नृत्य  एवं  नाट्य शिविर का बड़ा नगला-एटामडा में समापन समारोह दिस. 2003
 


त्रिवेणी कला संगम, जयपुर द्वारा भरतपुर एवं कुम्हेर  में आयोजित संगीत, नृत्य  एवं  नाट्य प्रशिक्षण  शिविर का मदनमोहन जी का मंदिर कुम्हेर  के समापन समारोह  2004 में डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा अपनी शिष्या ज्योति कटारा के साथ  

त्रिवेणी कला संगम द्वारा भरतपुर में आयोजित नाट्य प्रशिक्षण शिविर के प्रशिक्षणार्थियों द्वारा रामेश्वरी देवी कन्या महाविद्यालय, भरतपुर में डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा द्वारा लिखित एवं निर्देशित नाटक ‘ तुक्के का बादशाह ‘ का ब्रज भाषा में प्रस्तुतीकरण

त्रिवेणी कला संगम, जयपुर द्वारा सूचना केंद्र श्रीगंगानगर में आयोजित प्रथम संगीत, नृत्य एवं नाट्य प्रशिक्षण शिविर का अरोड़ा धर्मशाला श्रीगंगानगर में समापन समारोह 1 जनवरी 1996

29 जुलाई 2012 को मुंबई में सुश्री रेणुका इसरानी द्वारा सम्पादित पुस्तक ‘कर्मपथ’के विमोचन समारोह के जीवंत क्षण

त्रिवेणी कला संगम, जयपुर द्वारा 4 नवम्बर से 4 दिसम्बर 2010 तक एन.के. पब्लिक स्कूल जयपुर में आयोजित संगीत,नृत्य एवं नाट्य प्रशिक्षण शिविर के समापन समारोह में 4 व 5 दिसम्बर 2010 को रवीन्द्र मंच जयपुर पर नाटक कार्यवाहक हलवाई एवं मन चंगा तो कठौती में गंगा का प्रस्तुतीकरण